राज्य

बरेली में प्रशासन ने की शानदार पहल  मेडिकल मोबाइल वैन के जरिये दुकानदारों, मंडियों में जाकर लोगों के सैंपल लेकर टेस्ट करवा रही ह

https://www.youtube.com/channel/UC7fjv3PjEXQsGKAP4MWsOdw

बरेली लाइव भारत टी०वी० :- अब आपको कोरोना की जांच करवाने के लिए अस्पताल नहीं जाना होगा। डॉक्टरों से मिन्नत नहीं करनी होगी न ही किसी तरह का खर्च होगा। बल्कि जिला प्रसासन और स्वास्थ्य विभाग की पहल पर अब कोरोना मेडिकल मोबाइल वैन आपकी दुकान पर जाएगी और आपका सैंपल लेगी। बरेली में इसकी शुरुआत कर दी गई है।बरेली की सबसे बड़ी डेलापीर सब्जी मंडी में मेडिकल मोबाइल वैन दुकानदारों के सैंपल ले रही है ताकि जांच की जा सके। ये शहर की बड़ी मंडी है। यहां फुटकर सब्जी विक्रेता आते हैं। यही नहीं देश भर से ट्रकों में भरकर सब्जियां पहुंचती हैं। ऐसे में किसी भी व्यक्ति को संक्रमण की आशंका रहती है। अगर संक्रमण फैला तो स्थिति बुरी हो सकती है। इसलिये स्वास्थय विभाग ने कोविड-19 का टेस्ट कराने का फैसला किया है। बरेली में गुरुवार से कोरोना मेडिकल मोबाइल वैन की शुरुआत की गई। सीएमओ विनीत कुमार शुक्ला ने बताया की ये वैन सभी मेडिकल स्टोर, सब्जी व्यापारियों, किराना की दुकानों, डॉक्टर्स और पत्रकारों के पूल टेस्ट करेगी। उन्होंने बताया की पूल टेस्ट से एक साथ कई लोगों का टेस्ट हो सकेगा और जांच करने में आसानी होगी। बरेली में कोरोना मुक्त होने के बाद अब प्रशासन ने सामुदायिक संक्रमण की पुष्टि के लिए कमर कस ली है। बरेली में देश भर से पलायन करके आये करीब 15 हजार मजदूरों का भी टेस्ट कराया जाएगा और उनके सैम्पल लेकर जांच के लिए आईवीआरआई भेजे जाएंगे। प्रशासन ने लोगों का पूल टेस्ट करना शुरू किया है। सभी ग्राम पंचायत, नगर पालिका, नगर पंचायतों, वार्डों में कोरोना मेडिकल मोबाइल वैन जाकर लोगों का सैम्पल लेगी। इस तरह पूल टेस्टिंग के जरिये जो थोड़ा बहुत संदेह है वो भी खत्म हो जाएगा। डीएम नीतीश कुमार ने बताया की पूल टेस्टिंग के जरिये ऐसे सभी लोगों के सैम्पल लिए जाएंगे जो बाहर से आये हैं। उनका कहना है बरेली कोरोना मुक्त है और आगे भी किसी तरह से कोरोना संक्रमण न फैले उसके लिए स्वास्थ्य विभाग, पुलिस और प्रशासन ने मिलकर पूरी तैयारी कर रखी है।

क्या होता है पूल टेस्ट
आपको बता दें की पूल टेस्ट के जरिये एक जैसे लोगों के ग्रुपों के संयुक्त सैम्पल लेकर जांच के लिए भेजे जाते हैं। जिससे जांच करने में काफी सहूलियत रहती है और रिपोर्ट जल्दी आ जाती है। एक ग्रुप में 50 लोगों तक का संयुक्त सैम्पल लिया जा सकता है। गौरतलब है की बरेली में पूर्व में 6 कोरोना के मामले सामने आये थे जिसके बाद प्रशासन ने काफी सख्ती की और उसी सख्ती का नतीजा है कि सभी 6 कोरोना मरीज सही होकर घर जा चुके हैं और बरेली कोरोना मुक्त हो गया है।

बरेली से ब्यूरो रिपोर्ट

Related Articles

Close