Send Your Newsउत्तरप्रदेश

गामेंद्र सिंह गजरौलिया ने मोदी सरकार के अनलाॅक के फैसले पर उठाया सवाल

https://www.youtube.com/channel/UC7fjv3PjEXQsGKAP4MWsOdw

बिजनौर। भारतीय बौद्ध संघ के जिलाअध्यक्ष गामेंद्र सिंह गजरौलियां ने एक विज्ञप्ति जारी करते हुए कोविड-19 के मरीजों की बढ़ती संख्या पर चिंता व्यक्त की और कहा की मोदी सरकार ने जब देश में कोविड-19 के मरीजों की संख्या सैकड़ों में थी जब देश में लॉक डाउन कर दिया अब देश में कोविड-19 के मरीजों की संख्या लाखों में है तो मोदी सरकार देश को अनलॉक करने में लगी है। जो आम आदमी की समझ से परे है हमें खुद ही को कोविड-19 से बचने के उपाय करने हैं अतः हमें प्रतिदिन 30–45 मिनट व्यायाम व योग करना होगा उम्र कोई भी हो खुद के लिए इतना तो कर ही सकते हैं धूप में सारे विटामिन और जीवन के लिए जरूरी तत्व है। प्राकृतिक से जुड़ाव रखें गर्म पानी का सेवन करें आंवला,अदरक, नींबू, गिलोय, फल, सलाद आदि का भी सेवन करें।
गामेंद्र सिंह गजरौलिया ने आगे कहा जीवन जीने के तरीके में परिवर्तन लाना ही पड़ेगा तभी जीवन आनंदित वह सुकून देने वाला होगा कोविड-19 से घबराने से काम नहीं चलेगा सतर्कता,समझदारी अब जरूरी है कोई भी खाली पेट ना रहे,उपवास ना करें,गले को गिला रखें, सरसों का तेल नाक में लगाएं, घर से बाहर जाएं तो मुंह पर मास्क लगाएं ऐसा करने से कोरोनावायरस हमारे शरीर में जल्दी से प्रवेश नहीं करेगा अतः कोविड-19 से बचाव के सारे प्रयास हमें करने होंगे क्योंकि आने वाला समय और कड़ा होगा। अब देश की राजधानी दिल्ली को ही देख लीजिए इस अस्पताल से उस अस्पताल दौड़ते मरीज सड़क पर मर रहे हैं प्राइवेट अस्पताल लूट रहे हैं,सरकारी अस्पतालों में जगह नहीं है
दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल नेअपना नारा बुलंद किया है की बाहरी व्यक्ति का इलाज दिल्ली में नहीं होगा। जबकि एलजी कहते हैं कि दिल्ली में सब का इलाज होगा। कंफ्यूजन ही कंफ्यूजन है सॉल्यूशन का कुछ पता नहीं।
हमारे देश भारत में दो बड़े नेता हैं नरेंद्र मोदी और अरविंद केजरीवाल दोनों को जनता बहुत वोट देती है। दोनों नेता इस कोरोना काल में खूब राजनीति कर रहे हैं राष्ट्रीय राजनीति में नरेंद्र मोदी के उदय के साथ राजनीति सिर्फ एक सेल्समैनशिप बनकर रह गई है केजरीवाल उसी की नकल है बाकी क्षेत्रीय नेताओं की समझ में भी आ रहा है कि इस देश में सिर्फ मोदी मॉडल ही चल सकता है जिसकी बुनियाद काम नहीं बल्कि गाल बजाने पर टिकी है नेताओं की नाकामी से ही देश में कोरोनावायरस का संकट बढ़ रहा है अतः कोरोनावायरस के संकट से निपटने के लिए जनता को खुद ही प्रयास करने होंगे देश के नेताओं के भरोसे रहना एक बड़ी भूल होगी।
बिजनौर से फहीम अख्तर की रिपोर्ट

Related Articles

Close