Breaking Newsउत्तरप्रदेश

बरेली गंगाशील अस्पताल के डा. शालिनी माहेश्वरी के उपर एडीजी के निर्देश पर पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज की

न्यूज़ नेटवर्क

बरेली: गंगाशील अस्पताल के डॉ. शालिनी माहेश्वरी के खिलाफ पुलिस ने अप्रशिक्षित पुरुष तकनीशियन से गर्भवती का आपरेशन कराने और लापरवाही बरतने के आरोप में एफआईआर दर्ज की गई है। यह रिपोर्ट खुशलोक अस्पताल के डॉक्टर की शिकायत पर एडीजी के आदेश पर प्रेमगनर थाना पुलिस ने दर्ज की है।
डॉ. शालिनी के अलावा एक अन्य को भी नामजद किया गया है। इज्जतनगर के डी-916 ट्यूलिप ग्रांड में रहने वाले डॉ. मनाजिर इकबाल ने बताया कि वह खुशलोक अस्पताल में कॉर्डियोलॉजिस्ट हैं। उनकी पत्नी सायमा सरफराज सरकारी डॉक्टर हैं। डॉ. सायमा की तैनाती नवाबगंज के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर है। जब डॉ. सायमा गर्भवती हुईं तो उन्होंने गंगाशील अस्पताल के डॉ. शालिनी माहेश्वरी को दिखाया।
विगत 21 मार्च को उन्होंने प्रसव के लिए पत्नी को गंगाशील अस्पताल में भर्ती कराया। डॉ. मनाजिर ने बताया कि शालिनी माहेश्वरी ने उसी दिन दोपहर करीब एक-डेढ़ बजे आपरेशन करने को कहा था। इस पर उन्होंने भी सहमति दे दी। आरोप है कि आपरेशन के दौरान डॉ. शालिनी माहेश्वरी मौजूद नहीं रहीं। वह अपने पति के पास बैठी थी जबकि आपरेशन अप्रशिक्षित पुरुष तकनीशियन ने किया।

जब डॉ. मनाजिर ने शालिनी से आपरेशन कक्ष में न होने की वजह पूछी तो उन्होंने कुछ काम से आने की बात कही। जब डॉ. सायमा आपरेशन कक्ष से बाहर आईं तो उन्होंने बताया कि उनका आपरेशन पुरुष तकनीशियन ने किया। उन्हें पूरी तरह से बेहोश भी नहीं किया गया था। इस संबंध में डा. मनाजिर ने एडीजी अविनाश चंद्र से की थी। एडीजी ने प्रेम नगर पुलिस को रिपोर्ट दर्ज करने के निर्देश दिए थे। एडीजी के निर्देश पर पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर ली है।
आपरेशन के बाद बढ़ गई समस्या
डॉ. मुनाजिर इकबाल ने बताया कि 22 मार्च को डॉ. सायमा की तबीयत खराब होने लगी। उनके पेट में तेज दर्द होने लगा। 23 मार्च को डॉ. शालिनी को दोबारा दिखाया तो उन्होंने कहा कि दूध में घी डालकर दो और देसी घी में आमलेट बना कर दो। जब सायमा की हालत में सुधार नहीं हुआ तो उन्होंने गंगाशील अस्पताल से डॉ. सायमा की छुट्टी करा ली। इसके बाद वह एक एमआरआई सेंटर पर गए। वहां सिटी स्कैन कराया तो पता चला कि डॉ. सायमा की आंतें बंद हैं जिस कारण उन्हें समस्या हो रही है।
बच्चे के डॉक्टर को भी न बुलाने का आरोप
डॉ. मनाजिर इकबाल ने बताया कि जब उनकी पत्नी का आपरेशन हुआ तो डॉ. शालिनी ने बाल रोग विशेषज्ञ को भी मौके पर नहीं बुलाया जबकि बाल रोग विशेषज्ञ का होना जरूरी था। उन्होंने डॉ. शालिनी माहेश्वरी पर घोर लापरवाही बरतने का आरोप लगाया। आरोप है कि उनकी पत्नी का आपरेशन गैर प्रशिक्षित पुरुष तकनीशियन से कराकर लज्जा भंग करने जैसा काम किया गया है। डॉ. मनाजिर ने कहा कि वह भी एक डॉक्टर हैं। उनकी समझ में नहीं आ रहा कि एक डॉक्टर इस तरह की लापरवाही कैसे कर सकता है।

डॉ. मुनाजिर के शिकायती पत्र पर एडीजी ने रिपोर्ट दर्ज करने के निर्देश दिए थे। एडीजी के निर्देश पर गंगाशील अस्पताल की डॉ. शालिनी माहेश्वरी और एक अन्य के खिलाफ सुसंगत धाराओं में रिपोर्ट दर्ज कर ली गई है। पुलिस मामले की विवेचना कर रही है। – अवनीश कुमार यादव, इंस्पेक्टर प्रेमनगर

न्यूज़ नेटवर्क ब्यूरो रिपोर्ट

Related Articles

Back to top button