Breaking Newsउत्तरप्रदेश

दलित छात्रा से गैंगरेप के मामले में पुलिस ने तीन आरोपियों को मुठभेड़ और कांबिंग के दौरान गिरफ्तार कर लिया।

दलित छात्रा से गैंगरेप के मामले में पुलिस ने तीन आरोपियों को मुठभेड़ और कांबिंग के दौरान गिरफ्तार कर लिया। एक आरोपी पैर में गोली लगने से घायल हो गया। उसके पास से पुलिस ने तमंचा बरामद किया है। तीनों आरोपी पुलिस की हिरासत में है। फरार तीन अन्य आरोपियों की तलाश में पुलिस दबिश दे रही है।

बारादरी इलाके की रहने वाली इंटरमीडिएट की दलित छात्रा अपने दो दोस्तों के साथ स्कूटी से 31 मई को भगवानपुर धीमरी के पास नहर रोड पर घूमने गई थी। वहीं किनारे जंगल में छह धीमरी गांव के रहने वाले छह युवकों ने उससे रेप किया। आरोपियों ने छात्रा और उसके दो दोस्तों की पिटाई कर जान से मारने की धमकी दी थी। इस मामले में शनिवार को छात्रा की ओर से थाना इज्जतनगर में धीमरी गांव के रहने वाले विशाल पटेल, अनुज पटेल, राकेश, धर्मेंद्र, अमित और नीरज के खिलाफ गैंगरेप का मुकदमा दर्ज कराया गया था। सीओ तृतीय श्वेता यादव के नेतृत्व में बारादरी, इज्जतनगर और बिथरी पुलिस गांव में डेरा डाले हुये थी। पुलिस ने कांबिंग कर अनुज पटेल को कलापुर नहर वाली पुलिया के पास से गिरफ्तार कर लिया। उसके साथी विशाल पटेल से पुलिस की मुठभेड़ हो गई। फायरिंग में विशाल को पैर में गोली लगी है। उसके पास से पुलिस ने तमंचा बरामद किया है। दोनों आरोपी पुलिस हिरासत में हैं। उनके खिलाफ आम्र्स एक्ट के तहत भी मुकदमा दर्ज किया गया है। देर रात पुलिस ने तीसरे आरोपी विकास को गिरफ्तार कर लिया। आरोपी थाने के लॉकअप में है।

गांव में पुलिस को डेरा, आरोपी फरार

एसएसपी रोहित सिंह सजवाण ने बताया कि तीनों आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। उन्हें जेल भेजा रहा है। गैंगरेप, मारपीट और एससीएसटी के मुख्य आरोपी नरेश समेत अन्य आरोपियों की तलाश में गांव में पुलिस टीमें लगाई गई हैं। आरोपी घरों से फरार हैं। उनकी गिरफ्तारी को लेकर रिश्तेदारियों व जान पहचान के अडडों पर दबिश दी जा रही है।

न्यूज़ रिपोर्ट एजेंसी

Related Articles

Close