Breaking News

UP: विधायक दल के नेता चुने जाने के बाद भावुक हुए योगी आदित्यनाथ, भाजपा ने सहयोगी दलों के साथ पेश किया सरकार बनाने का दावा

न्यूज़ नेटवर्क

 Upयोगी आदित्यनाथ ने लोकभवन में पार्टी के विधायकों को संबोधित करते हुए कहा कि मैं यहां मौजूद सभी लोगों का आभार व्यक्त करता हूं। खासकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह का जिन्होंने मुझ पर एक बार फिर भरोसा जताया।

भाजपा के विधानमंडल दल की गुरुवार को लोकभवन में आयोजित बैठक में योगी आदित्यनाथ को सर्वसम्मति से विधायक दल का नेता चुना गया। विधायक दल का नेता चुने जाने के बाद योगी ने राजभवन पहुंचकर राज्यपाल आनंदीबेन पटेल के समक्ष 273 विधायकों के समर्थन से सरकार बनाने का दावा पेश किया। इसके साथ ही उत्तर प्रदेश के राजनीतिक इतिहास में योगी आदित्यनाथ के नाम एक रिकार्ड दर्ज हो गया। योगी एक मात्र ऐसे मुख्यमंत्री होंगे जो अपना पांच वर्ष कार्यकाल पूरा करने के बाद दोबारा मुख्यमंत्री बनेंगे।

राजधानी के लोक भवन में बृहस्पतिवार शाम भाजपा विधायक दल के नेता चुनाव के पर्यवेक्षक एवं गृहमंत्री अमित शाह, सह पर्यवेक्षक एवं राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रघुवर दास, चुनाव प्रभारी धर्मेंद्र प्रधान और संगठन प्रभारी राधामोहन सिंह की मौजूदगी में एनडीए के विधानमंडल दल की बैठक आयोजित हुई। भाजपा के वरिष्ठ सांसद सुरेश खन्ना ने योगी आदित्यनाथ को विधायक दल का नेता चुनने का प्रस्ताव रखा। भाजपा विधायक सूर्य प्रताप शाही, बेबीरानी मौर्य, नंदगोपाल गुप्ता नंदी, राम नरेश अग्निहोत्री और सुशील शाक्य ने प्रस्ताव का समर्थन किया। इसके बाद योगी को सर्वसम्मति से भाजपा विधायक दल का नेता चुना गया। अपना दल (एस) के आशीष पटेल और निषाद पार्टी के अध्यक्ष संजय निषाद ने भी योगी के नेतृत्व को समर्थन देने की घोषणा की। गृहमंत्री अमित शाह, रघुवर दास, धर्मेद्र प्रधान और स्वतंत्र देव सहित सहित सभी वरिष्ठ नेताओं ने योगी को पुष्प गुच्छ भेंटकर विधायक दल का नेता चुने जाने की बधाई और शुभकामनाएं दी। इस अवसर पर पूर्व उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य, डॉ. दिनेश शर्मा, महामंत्री संगठन सुनील बंसल भी मौजूद थे। बैठक में भाजपा के विधायक, विधान परिषद सदस्य, अपना दल और निषाद पार्टी के विधायक भी मौजूद थे।

सरकार बनाने का दावा पेश किया
विधायक दल का नेता चुने जाने के बाद योगी ने भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह, अपना दल  एस के नेता आशीष पटेल और सहयोगी दलों के नेताओं के साथ राजभवन पहुंचकर सरकार बनाने का दावा पेश किया। राज्यपाल ने भी देर रात योगी को सरकार बनाने के लिए आमंत्रित किया।

योगी कल लेंगे मुख्यमंत्री पद की शपथ
योगी आदित्यनाथ शुक्रवार को अटल बिहारी वाजपेयी इकाना स्टेडियम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृहमंत्री अमित शाह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा सहित भाजपा शासित प्रदेशों के मुख्यमंत्रियों की मौजूदगी में मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे। योगी के साथ करीब 45 मंत्री भी शपथ लेंगे। इकाना स्टेडिमय में राज्यपाल आनंदीबेन पटेल योगी को  मुख्यमंत्री पद और मंत्रियों को पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाएंगी। यूपी में बीते 36 वर्षों में पहला मौका होगा जब किसी एक दल की दोबारा प्रचंड बहुमत की सरकार शपथ लेगी।

उप मुख्यमंत्री पद की नहीं हुई घोषणा
भाजपा विधायक दल की बैठक में उप मुख्यमंत्री पद को लेकर घोषणा नहीं की गई है। 2017 में योगी आदित्यनाथ को विधायक दल का नेता चुने जाने के बाद योगी ने सरकार में सहयोग के लिए दो उप मुख्यमंत्री नियुक्त करने का प्रस्ताव रखा था। उसके बाद केशव प्रसाद मौर्य और डॉ. दिनेश शर्मा को उप मुख्यमंत्री नियुक्त किया गया था। बृहस्पतिवार को विधायक दल की बैठक में उप मुख्यमंत्री पद की घोषणा को लेकर कयास लगाए जा रहे थे। लेकिन पार्टी ने फिलहाल उप मुख्यमंत्री पद को लेकर सस्पेंस बरकरार रखा है।

भाजपा विधायक दल के नेता योगी आदित्यनाथ ने वचन दिया है कि वह बिना रुके, बिना डिगे और बिना थके पांच वर्ष तक समर्पित भाव से प्रदेश की जनता की सेवा करेंगे। उनकी सरकार ईमानदारी और प्रतिबद्धता के साथ काम करते हुए आगामी पांच वर्ष में यूपी को देश की नंबर एक अर्थव्यवस्था वाला राज्य बनाएगी।

भाजपा विधायक दल का नेता चुने जाने के बाद लोकभवन में विधायकों को संबोधित करते हुए योगी आदित्यनाथ ने कहा कि विपक्षी दलों ने चुनाव को प्रभावित करने का प्रयास किया। लेकिन जनता ने वंशवाद, जातिवाद की संकीर्ण राजनीति को छोड़कर सुशासन और राष्ट्रवाद को अपना समर्थन देकर दुष्प्रचार को नकार दिया।

न्यूज़ रिपोर्ट एजेंसी उत्तर प्रदेश

Related Articles

Back to top button