Breaking News

बरेली: ट्रेन रोकने जा रहे किसानों को पुलिस ने हिरसात में लिया, घंटों बाद छोड़ा

Bareilly up

 

बरेली में घनघोर बारिश के बावजूद संयुक्त किसान मोर्चा के आह्वान पर जिले में किसान संगठन ने दामोदर स्वरूप पार्क में एकत्रित हुए और ट्रेन रोकने की बात कहते हुए वहां से जंक्शन की तरफ जाने लगे। इसकी जानकारी होते ही पुलिस ने सभी को चौपुला के पास हिरासत में ले लिया। और उन्हें बस में बैठा कर पुलिस लाइन ले गए जहां घंटों बैठा किसानों छोड़ दिया गया। वहीं कुछ लोगों को सुभाषनगर थाने में रोका गया। बाद में उन्हें भी छोड़ दिया गया।
सोमवार को संयुक्त किसान मोर्चा के आह्वान पर किसान एकता संघ, उप्र खेत मजदूर यूनियन, भारतीय किसान यूनियन से जुड़े किसान और नेता दामोदर स्वरुप पार्क में एकत्रित हुए। यहां सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए ट्रेन रोकने के लिए जंक्शन की ओर चलने लगे। इसपर कुछ नेताओं को सुभाषनगर पुलिस ने पकड़ लिया और बाकी लोगों को पुलिस चौपुला से पुलिस लाइन में ले गए इस दौरान डा. रवि नागर ने कहा कि प्रदेश सरकार पूरी तरह से तानाशाही पर उतारू है। अपनी मनमानी कर किसानों को उत्पीड़न कर रही है वह शान्ति पूर्वक किये जा रहे आन्दोलन को अपने तानाशाही रवैया से रोकना चाहती है। पुलिस लाठी के दम पर हमारे हौसलों को कमजोर नही कर सकती। यदि गृह राज्य मन्त्री की बर्खास्तगी व गिरफ्तारी नहीं होती है तो वह आन्दोलन जारी रखेंगे।खेत मजदूर यूनियन के राजीव शांत ने कहा कि 26 अक्टूबर को लखनऊ में होने वाली किसान महा पंचायत में बरेली से सैंकडो किसान जाएंगे। गिरफ्तार होने की सूचना पर सभी पदाधिकारी थाना सुभाषनगर पहुंचे। जहां पर नाराज किसानों ने प्रशासन के खिलाफ जम कर नारेबाजी की। गिरफ्तार होने वालों में मुख्य रुप से किसान नेता डा. रवि नागर, चौधरी जगपाल यादव, श्रीपाल सहित तमाम किसान नेता रहे इसके साथ ही पुलिस तमाम लोगों को पुलिस लाइन में लेकर आई और घंटो बाद शाम को उन्हें भी रिहा कर दिया गया।

ब्यूरो रिपोर्ट बरेली

Related Articles

Close