Send Your Newsउत्तरप्रदेश

भारतीय बौद्ध संघ के जिलाध्यक्ष ने सेना के 2 बड़े अफसर समेत पांच जवानों की शहादत पर गहरा दुख व्यक्त किया

https://www.youtube.com/channel/UC7fjv3PjEXQsGKAP4MWsOdw

बिजनौर।
भारतीय बौद्ध संघ के जिलाध्यक्ष गामेंद्र सिंह गजरौलिया ने जम्मू कश्मीर के हंदवाड़ा में सेना के 2 बड़े अफसर समेत पांच जवानों की शहादत पर गहरा दुख व्यक्त किया और आतंकवाद की कड़े शब्दों में निंदा की।
गामेंद्र सिंह गजरौलिया ने कहा कि आतंकवादी कितने बेशर्म व निर्लज्ज है यह इससे समझा जा सकता है की जब सारी दुनिया कोविड-19 कोरोना वायरस के संक्रमण से लड़ रही है इस आपदा के दौर में भी आतंकवादी खून की होली खेल रहे है,हमारे अफसर और जवान शहीद हो रहे हैं यह अत्यंत दुखद है हम इसकी कड़ी निंदा करते हैं हम सरकार से अफसरों और जवानों की शहादत का बदला लेने की मांग करते हैं।
अध्यक्ष ने आगे कहा की जम्मू कश्मीर में अनुच्छेद 370 हटने के बाद भी घाटी में आतंकी गतिविधियां जारी हैं जबकि कहा गया था कि अनुच्छेद 370 हटने के बाद आतंकवाद की कमर टूट जाएगी। लेकिन लगता है कि ऐसा नहीं हुआ आतंकवादी बेखौफ खून की होली खेल रहे हैं और हमारे देश को आघात पहुंचा रहे हैं इसे बर्दाश्त नहीं किया जा सकता केंद्र सरकार को आतंकवाद पर सख्ती से काबू पाना चाहिए।
जम्मू कश्मीर में अब किसी राजनीतिक दल की सरकार नहीं है, राज्यपाल शासन लगा है सारी शक्तियां केंद्र सरकार के हाथ में हैं इसलिए अब मोदी सरकार अपनी नाकामी का दोष किसी और राजनीतिक पार्टी को नहीं दे सकती।
अब जरूरत है कि सीमाओं की चौकसी कड़ी की जाए, सजग रह जाए, इंटेलीजेंस पुख्ता हो। मोदी सरकार को ऐसी ठोस नीतियां बनानी होंगी, जिससे हमारे अफसर और जवानों की शहादत रुक सके, देश के हर अफसर और जवान की जान बहुत कीमती है। यह ठीक नहीं है कि मरने पर आमादा आतंकियों को मार गिराने में मेजर और कर्नल स्तर के सैन्य अफसरों को अपनी जान का बलिदान देना पड़े।

बिजनौर से संवादाता फहीम अख़्तर की रिपोर्ट

Related Articles

Back to top button