Breaking Newsउत्तरप्रदेश

उत्तर प्रदेश बरेली के थाना भोजीपुरा थाने के एसआई रवि शंकर यादव द्वारा ब्राह्मण समाज पूर्व न्यायाधीश को भ्रष्ट बताने पर भड़के जिला अध्यक्ष भारत परिषद

Live Bharat TV update

खबर उत्तर प्रदेश के जनपद मुख्यालय बरेली के थाना भोजीपुरा से जहां भोजीपुरा थाने के एसआई रविशंकर यादव ने भोजीपुरा से जा रहे भारत परिषद जिलाध्याक्ष जावेद खान को रोका और जावेद खान से उसका परिचय मांगा जावेद खान ने बताया कि वह भ्रष्टाचार विरोधी संगठन भारत परिषद का जिलाध्यक्ष किसी कार्य हेतु वह CO थर्ड से मिलने जा रहा है जिसके बाद थाना भोजीपुरा में तैनात एसआई रवि शंकर यादव ने अपनी वर्दी का रोफ दिखाते हुए संगठन के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री सीबी पांडे के साथ समस्त ब्राह्मणों को ही भ्रष्ट बता दिया और कहा कि अगर वह पूर्व में कोई न्यायधीश रहे होंगे तो वह भ्रष्ट ही होंगे जिसके बाद जिलाध्याक्ष भारत परिषद जावेद खान ने पूरे घटनाक्रम की जानकारी संगठन के पदाधिकारी राष्ट्रीय अध्यक्ष माननीय व पूर्व र्न्यायाधीश सी बी पांडे व सीओ नवाबगंज योगेंद्र सिंह को दी जिसकी वार्ता फोन में रिकॉर्ड हो गई है जिसके बाद आज दिनांक 23 5 2020 को भारत परिषद के जिला अध्यक्ष ने सीओ नवाबगंज को ज्ञापन देने गए तो वहां रवि शंकर यादव को जांच से बचाने के लिए भारत परिषद के जिलाध्यक्ष जावेद खान को थाने में भिजवा दिया और सीओ नवाबगंज ने मामले को घुमा दिया और कहने लगे कि वह गौ तस्करों की सिफारिश करने के लिए आया था हालांकि इस मामले में जिलाध्यक्ष जावेद खान व सीओ नवाबगंज योगेंद्र सिंह की रिकॉर्डिंग में इस तरीके की कोई ऐसी सिफारिश की बात नहीं हुई है वही जिलाध्यक्ष का कहना है कि सीओ नवाबगंज एसएसआई रवि शंकर यादव पर कार्यवाही ना करने के लिए मामले को दबाने का प्रयास कर रहे हैं हालांकि भारत परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व न्यायाधीश माननीय श्री पांडे जी जी ने बरेली रेंज के डीआईजी राजेश कुमार पांडे से बात की है और मामले को संज्ञान में लेते हुए कार्रवाई का आश्वासन दिया गया है भारत परिषद के प्रदेश अध्यक्ष द्वारा भोजीपुरा थाने में तैनात एसआई रवि शंकर यादव से की शिकायत डीजीपी से करने की बात कही साथ ही कहा है संगठन के पदाधिकारियों के साथ इस तरीका की अबभरता बर्दाश्त नहीं की जाएगी साथ संगठन के पदाधिकारी द्वारा यह मांग की गई है भोजीपुरा थाने में तैनात दरोगा रवि शंकर यादव पूर्व न्यायधीश एवं जाति विशेष पर टिप्पणी करने को लेकर सस्पेंड करने की मांग की है

ब्यूरो रिपोर्ट बरेली

उत्तर प्रदेश एवं उत्तराखंड

Related Articles

Close