उत्तरप्रदेशदेश

पंचायत चुनाव में मतदाताओं को लुभाने के लिए आई एक ट्रक शराब पकड़ी घटना थाना बारादरी क्षेत्र

गोदाम मालिक मौके से फरार हो गया।

 बरेली। पंचायत चुनाव और होली पर बिक्री के लिए जिले में लाई गई शराब को मंगलवार देर रात एसओजी, बारादरी पुलिस और क्राइम ब्रांच ने पकड़ लिया। पुलिस ने चालक को गिरफ्तार कर लिया। गोदाम मालिक मौके से फरार हो गया। शराब कानपुर से बरेली के लिए बिक्री को लाई गई थी। पुलिस के अनुसार शराब की कीमत करीब 45 लाख रुपये है कानपुर से आई थी शराब
पूछताछ में आरोपी चालक संजय ने बताया कि वह शराब का ट्रक कानपुर से लेकर बरेली आया था। यहां उसे मनोज जायसवाल को डिलीवरी देनी थी। मनोज शराब का कारोबार करता है। पुलिस को ट्रक से देसी शराब की 1415 पेटी मिली है। शराब शबनम अंगूरी ब्रांड की है। एसएसपी सिटी ने प्रेसवार्ता में बताया कि मंगलवार देर रात पुलिस को सूचना मिली कि हरूनगला में बीसलपुर रोड पर एक 10 टायरा ट्रक खड़ा है। उसमें अवैध रूप से लाई गई शराब है। यह शराब हरूनगला में मनोज जायसवाल के गोदाम पर उतारी जाएगी। सूचना पर बारादरी इंस्पेक्टर शितांशु शर्मा, एसओजी टीम के प्रभारी हिमांशु निगम और पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे। यहां खड़े ट्रक को पुलिस ने अपने कब्जे में ले लिया। ट्रक मे मौजूद चालक संजय कुमार भी पुलिस के हत्थे चढ़ गया। पूछताछ में चालक ने बताया कि वह फतेहगंज पश्चिमी के गांव अगरास का रहने वाला है। भागने वाले तस्कर का नाम चालक ने मनोज जायसवाल बताया। पुलिस ने आरोपी को चालक को जेल भेज दिया। वहीं मनोज की तलाश कर रही है। साथ ही पुलिस ने ट्रक को भी सीज कर दिया है।

पांच माह पहले बंद हो चुकी है कंपनी
एसपी क्राइम ने बताया कि देसी शराब जिस ब्रांड की है वह कंपनी पांच माह पहले ही बंद हो चुकी है। जब कंपनी पहले ही बंद हो चुकी है तो अब शराब कहां से आई। इसकी जांच की जाएगी। जांच में जो लोग दोषी पाए जाएंगे। उनके खिलाफ भी रिपोर्ट दर्ज की जाएगी।

ब्रांड पर चल रहा है मुकदमा
बारादरी इंस्पेक्टर शितांशु शर्मा ने बताया कि टीम जो शराब पुलिस ने पकड़ी है। वह देसी शराब है। इस ब्रांड पर एसटीएफ की ओर से पहले ही दो मुकदमे दर्ज कराए जा चुके हैं। इस ब्रांड को बेचने की अनुमति सिर्फ कानपुर जिले में ही थी। शराब दूसरे शहरों में अवैध तरीके से भेजी जाती है

ब्यूरो रिपोर्ट न्यूज़ एजेंसी

Related Articles

Close